Home / Hindi Song Lyrics / Nanha Munna Rahi Hun Desh Ka Sipahi Hun

Nanha Munna Rahi Hun Desh Ka Sipahi Hun

by admin on June 27, 2010

Go to Hindi transcription | English PDF | Hindi PDF

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Raste pe chalunga na dar dar ke
Chahe mujhe jina pade mar mar ke
Raste pe chalunga na dar dar ke
Chahe mujhe jina pade mar mar ke
Manzil se pehle na lunga kabhi dam
Aage hi aage badhaunga kadam
Dehne bain dehne bain tham!

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Dhoop mein paseena mai bahaunga jahaan
Hare bhare khet lehraenge wahaan
Dhoop mein paseena mai bahaunga jahaan
Hare bhare khet lehraenge wahaan
Dharti pe fanke na paenge janam
Aage he aage badhaunga kadam
Dehne bain dehne bain tham!

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Naya hai zamana meri nayi hai dagar
Desh ko banaunga machino kar nagar
Naya hai zamana meri nayi hai dagar
Desh ko banaunga machino kar nagar
Bharat Kisi se na hoga kabhi kam
Aage he aage badhaunga kadam
Dehne bain dehne bain tham!

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Bada ho ke desh ka sahara banunga
Duniya ki aankhon ka tara banunga
Bada ho ke desh ka sahara banunga
Duniya ki aankhon ka tara banunga
Rakhunga uncha Tiranga parcham
Aage he aage badhaunga kadam
Dehne bain dehne bain tham!

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Shanti ki nagari hai mera ye vatan
Sabko sikhaunga mein pyar ka chalan
Shanti ki nagari hai mera ye vatan
Sabko sikhaunga mein pyar ka chalan
Duniya main girane na dunga kabhi bam
Aage he aage badhaunga kadam
Dehne bain dehne bain tham!

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

Nanha munna rahi hun
Desh ka sipahi hun
Bolo mere sang Jai Hind Jai Hind Jai Hind
Jai Hind Jai Hind

नन्हा मुन्ना रही हूँ देश का सिपाही हूँ

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

रस्ते पे चलूँगा न डर डर के
चाहे मुझे जीना पड़े मर मर के
रस्ते पे चलूँगा न डर डर के
चाहे मुझे जीना पड़े मर मर के
मंजिल से पहले न लूँगा कभी दम
आगे ही आहे बढ़ाऊंगा कदम
देहने बाएँ देहने बाएँ थम

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

धूप में पसीना मैं बहाऊंगा जहाँ
नए नए खेत लहराएँगे वहां
धूप में पसीना मैं बहाऊंगा जहाँ
नए नए खेत लहराएँगे वहां
धरती पे फांके न पाएँगे जनम
आगे ही आहे बढ़ाऊंगा कदम
देहने बाएँ देहने बाएँ थम

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

नया है ज़माना मेरी नयी है डगर
देश को बनाऊंगा मशीनों का नगर
नया है ज़माना मेरी नयी है डगर
देश को बनाऊंगा मशीनों का नगर
भारत किसी से रहेगा नहीं कम
आगे ही आहे बढ़ाऊंगा कदम
देहने बाएँ देहने बाएँ थम

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

बड़ा होके देश का सहारा बनूँगा
दुनिया की आँखों का तारा बनूँगा
बड़ा होके देश का सहारा बनूँगा
दुनिया की आँखों का तारा बनूँगा
रखूँगा ऊँचा तिरंगा परचम
आगे ही आहे बढ़ाऊंगा कदम
देहने बाएँ देहने बाएँ थम

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

शांति की नगरी है मेरा ये वतन
सबको सिखाऊंगा मैं प्यार का चलन
शांति की नगरी है मेरा ये वतन
सबको सिखाऊंगा मैं प्यार का चलन
दुनिया में गिरने न दूंगा कभी बम
आगे ही आहे बढ़ाऊंगा कदम
देहने बाएँ देहने बाएँ थम

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

नन्हा मुन्ना रही हूँ
देश का सिपाही हूँ
बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद जय हिंद
जय हिंद जय हिंद

Previous post:

Next post: